बतकही

बातें कही-अनकही…

शोध/समीक्षा

दुष्यंत-शकुंतला प्रेम-कथा : आर्यों का लव-जिहाद

(शत्रु को नीचा दिखाने हेतु स्त्री एक माध्यम) पिछले लेख में यह देखा गया कि किस तरह भरत-कबीले के राजपुरोहित-पद पर वशिष्ठ की नियुक्ति का विरोध करने और बदले में ‘दाशराज्ञ-युद्ध’ छेड़ने के लिए ज़िम्मेदार विश्वामित्र को घेरने और मारने के लिए वशिष्ठ-दुष्यंत ने मेनका नाम की एक देव-वेश्या (अप्सरा) का प्रयोग किया था; लेकिन वे अपनी उस योजना में सफ़ल नहीं हुए | तब उन्होंने विश्वामित्र की बेटी, जो अप्सरा मेनका से ही जन्मी…

शोध/समीक्षा

आर्य : भारत में ‘लव-जिहाद’ के जन्मदाता

भारत में काफी समय से यह प्रचारित किया जाता रहा है कि यहाँ मुसलमानों ने हिन्दुओं को नीचा दिखाने और अपमानित करने के लिए ‘लव-जिहाद’ को अपना एक कारगर हथियार बनाया | लेकिन सच्चाई कुछ और ही है | हालाँकि भारत में सबसे पहले किस व्यक्ति ने अपने दुश्मनों या प्रतिद्वंद्वियों को हराने, नीचा दिखाने और समाज में अपमानित करने के लिए ‘स्त्री-पुरुष-प्रेम’ को अपना हथियार बनाया होगा, यह तो पता नहीं; लेकिन भारत-भूमि पर…

error: Content is protected !!